Saturday, April 13, 2024

दिल्‍ली में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 7% के पार; बढ़ती चिंता

देश की राजधानी  दिल्ली में लगातार दूसरे दिन 500 से ज्यादा कोविड-19 के मामले सामने आए हैं. दिल्ली में सोमवार को पॉजिटिविटी रेट भी 7% के पार हो गया है. वहीं राजधानी में बीते 24 घंटे के दौरान 501 नए कोरोना केस आए. सोमवार को आए केसों के बाद दिल्‍ली में कोरोना संक्रमण दर,7.79 फीसदी हो गई है जो28 जनवरी के बाद सबसे ज्यादा (28 जनवरी को संक्रमण दर 8.60 फीसदी थी) है. दिल्ली में इस समय सक्रिय कोरोना मरीज 1729 हैं, जो 1 मार्च के बाद सबसे ज्यादा (1 मार्च को 1769 सक्रिय मरीज थे) हैं. दिल्‍ली ही नहीं, इसके आसपास राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में भी कोरोना के केस बढ़ें हैं.यूपी के गौतमबुद्ध नगर जिले में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 65 नये मामले सामने आए.अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि कि गौतमबुद्ध नगर में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 332 तक पहुंच गई है जिनमें करीब 100 बच्चे शामिल हैं.आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, रविवार की सुबह छह बजे से 65 और लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि इस अवधि के दौरान 13 लोग ठीक हो गए हैं.मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुनील कुमार शर्मा ने कहा, ‘‘महामारी के 65 नए मामले सामने आये है जिनमें 19 बच्चों के संक्रमित होने के मामले भी शामिल हैं.”

इस बीच, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है, लेकिन यह चिंताजनक स्थिति नहीं है क्योंकि अस्पताल में मरीजों के भर्ती होने की दर कम है. उन्‍होंने कहा कि सरकार स्थिति पर नजर रखे हुए है. उन्होंने यह भी रेखांकित किया कि चेहरे पर मास्क लगाना जरूरी है, भले ही ऐसा नहीं करने पर लगने वाला जुर्माना वापस ले लिया गया हो. बुधवार को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की एक महत्वपूर्ण बैठक होगी जिसमें मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना लगाने पर विचार किये जाने की उम्मीद है.जैन ने कहा कि दिल्ली में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन हमने 100 प्रतिशत टीकाकरण किया है और बड़ी संख्या में लोग पहले ही (कोरोना) वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. इसके अलावा, अस्पताल में संक्रमितों के भर्ती होने की दर कम है इसलिए, यह चिंताजनक स्थिति नहीं है. हम इस पर नजर रखे हुए हैं.”

बच्चों में कोविड -19 के मामलों की बढ़ती संख्या के बारे में पूछे जाने पर, मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने पहले ही एक परामर्श जारी कर स्कूलों से कहा है कि यदि कोई छात्र या शिक्षक कोरोना वायरस से संक्रमित पाया जाता है तो कुछ दिनों के लिए उन विशिष्ट कक्षाओं को बंद कर दिया जाना चाहिये जहां छात्र पढ़ते हैं या शिक्षक पढ़ाते हैं.इस बीच, देश में सोमवार को शाम सात बजे तक 18 से 59 आयु वर्ग के लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की 21,580 एहतियाती खुराक दी गई है. इस आयु वर्ग के लाभार्थियों को अब तक टीके की 1,84,314 एहतियाती खुराक दी जा चुकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी. मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 186.7 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है और सोमवार को 15 लाख से अधिक खुराक दी गई. भारत में 10 अप्रैल से 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों को निजी टीकाकरण केंद्रों पर कोविड की एहतियाती खुराक देना शुरू किया गया.देश में 12-14 आयु वर्ग के लाभार्थियों को अब तक 2.46 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी है. साठ वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों, स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों को अब तक 2.55 करोड़ से अधिक एहतियाती खुराक दी गई है.

Read More

Support Us
Contribute to see NewsBred grow. And rejoice that your input has made it possible.